दुखियारी महिलाओं की नही सुनते है थाना प्रभारी- महिला आयोग

महिला आयोग

बिहार महिला आयोग लगातार महिलाओं के लिए काम करती आ रही है महिला आयोग की अध्यक्ष दिलमणि मिश्रा ने कहा कि जो भी महिलाएं हमारे पास अपनी समस्याओं को लेकर आती है उन्हें पहले हम सुनते हैं उसके बाद उस पर काम करते हैं ,

महिला आयोग

वहीं उन्होंने बिहार पुलिस को भी कटघरे में खड़ा कर दिया, मिश्रा ने बताया कि जो महिलाएं हमारे पास रोती- बिलखती अपनी समस्याओं को लेकर आती है वह बताती है कि थाना में जाने पर थानेदार नहीं सुनते , यह बातें आज बिहार महिला आयोग के अध्यक्ष दिलमणि मिश्रा ने अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की पूर्व संध्या पर पटना सिटी के पाटलिपुत्र विश्वविद्यालय की आंगीभूत इकाई पन्नालाल महिला महाविद्यालय में  महिला सुरक्षा में महिला आयोग की भूमिका पर परिचर्चा के दौरान कही.

महिला दिवस के पूर्व आयोजित पन्नालाल महिला महाविधालय में महिला सुरक्षा में महिला आयोग की भूमिका पर परिचर्चा का शुभारम्भ बिहार महिला आयोग की अध्यक्ष दिलमणि मिश्रा , भूतपूर्व छात्र समिति के अध्यक्ष सरोज जयसवाल ने दीप प्रज्वलित कर कार्यक्रम की शुरुआत की , इस अवसर पर महाविधालय की प्राचार्या प्रोफेसर (डॉ0) पूनम ,डॉ0 अंजू जैन,डॉ0 राजिया नसरीन  व अन्य गणमान्य शिक्षकगण समेत छात्राए उपस्थित थी .

परिचर्चा के दौरान प्राचार्य ने कहा कि भारत आदि काल से ही मातृसत्तात्मक समाज रहा है स्त्रियों को बहुत सारी शक्तियां मिली हुई थी मध्यकाल में उनकी स्थिति बिगड़ी किंतु आज फिर से महिलाओं में जागृति आई है हर क्षेत्र में आगे बढ़ रही है

 

 

 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here