पति की दीर्घायु के लिए पत्नी कर रही है वटवृक्ष की पूजा

एक तरफ जहां पूरा देश कोविड19 की लड़ाई लड़ रहा है तो वहीं दूसरी तरफ आज वट सावित्री पूजा पूरे धूमधाम से मनाई जा रही है । हालांकि इस दौरान कोई भी महिला मास्क लगाए हुई नजर नहीं आई न ही सोशल डिस्टेंस का पालन करती दिखाई दी। यह पूजा पूरे देश मे मनाने के साथ साथ बिहार में भी मनाया जाता है।

बताया जाता है कि महिलाएं अपनी सुहाग के लिए वटवृक्ष की पूजा अर्चना कर अपने पति की लंबी आयु के दीर्घायु की कामना करती है।

 
वहीं महिलाएं अपने घरों से निकलकर वटवृक्ष (वर के पेड़) के नीचे पहुँचकर विधि विधान के साथ पूजा अर्चना कर रही है तो दूसरी तरफ  वर के पेड़ के चारों तरफ घूम-घूम  कर लाल कच्चा सुता बांधती है और वटवृक्ष का परिक्रमा करती दिखाई दी। यह नजारा बिहार की राजधानी से सटे पटना सिटी का है। जहाँ पूजा अर्चना करने के बाद महिलाएं एक जगह बैठकर पुरोहित द्वारा वट सावित्री की कहानी सुनती सुन रही है।

तदुपरांत महिलाएं अपने- अपने घर पहुँचकर अपने पति की पुजा अर्चना कर पति से आशीर्वाद प्राप्त करती है।और पत्नी के लिए सौभाग्य की बात होती है।

 

इस पूजा में   देखा जाता है की महिलाएं हाथ से बने पंखा का पूजा भी करती है और इस पंखा  में अपने पति का नाम सुंदर अक्षरों में लिखती है और उसे अच्छे  तरीके से पंखा सुसज्जित करती है . वहीं  बताया जाता है की पूजा आर्चना करने के बाद महिलाएं अपने पति को प्रसाद खिलाती है और इसी पंखा से अपने पति को हवा भी खिलाती है.

वहीं ब्राह्मण मुकेश पाठक बताते हैं कि वट सावित्री पूजा महिलाएं अपने पति की दीर्घायु के लिए करती है और वर के पेड़ के चारो तरफ आपने पाप से मोक्ष के लिए परिक्रमा करती है। वहीं उन्होंने बताया कि यह पूजा सदियों से की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here